रूसीकरण की नीति क्रांति हेतु कहाँ तक उत्तरदायी थी

रूसीकरण की नीति क्रांति हेतु कहाँ तक उत्तरदायी थी ?

रूसीकरण की नीति:—

रूस की प्रजा विभिन्न जातियों के सम्मिश्रण से बनी थी । वहाँ कई धर्म प्रचलित थे । कई भाषाएँ थी । रूस में स्लाव, फिन, पोल, जर्मनी, यहूदी आदि अन्य जातियों के लोग थे परंतु इनमें स्लाव जाति के लोग प्रमुख थे । इन अल्पसंख्यक जातियों के विरुद्ध जार निकोलस द्वितीय के समय रूसीकरण की नीति अपनाई गई और ‘एक एक धर्म’ का नारा अपनाया गया । गैर-रूसी जनता का दमन किया गया, इनकी भाषाओं पर प्रतिबंध लगाये गये, इनकी संपत्ति छीन ली गई । 1863 ई. में इस नीति के विरुद्ध पोलों ने विद्रोह किया तो उनका निर्दयतापूर्वक दमन किया गया । इस कारण गैर-रूसी जनता में असंतोष फैला और वह जारशाही के विरुद्ध हो गई ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here