साम्यवाद एक नई आर्थिक एवं सामाजिक व्यवस्था थी कैसे

साम्यवाद एक नई आर्थिक एवं सामाजिक व्यवस्था थी कैसे ?

मजदूरों को पूंजीपतियों के शोषण से मुक्त कराना, उत्पादन एवं वितरण में समानता स्थापित करना, मजदूरों को विशेष सुविधाएं, जैसे- कार्य के घंटे, वेतन, मजदूरों को संघ बनाने की सुविधाएँ तथा मजदूरों की न्यूनतम आवश्यकताओं की पूर्ति करना । सामाजिक व्यवस्था में वर्ग संघर्ष को समाप्त कर वर्गहीन समाज की स्थापना करना ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here