सामाजिक विभाजन से आप क्या समझते हैं

सामाजिक विभाजन से आप क्या समझते हैं ?

प्रत्येक समाज में लोगों के जन्म, भाषा, जाति, धर्म के आधार पर विभेदन होना स्वाभाविक है । इन आधारों पर लोग अलग-अलग समुदायों से संबद्ध हो जाते हैं तो उसे सामाजिक विभाजन कहा जाता है । भारत में जाति के आधार पर सवर्ण, दलित, पिछड़ी जातियों के समुदाय सामाजिक विभाजन के उदाहरण हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here