साइमन कमीशन का गठन क्यों किया गया भारतीयों ने इसका विरोध क्यों किया

साइमन कमीशन का गठन क्यों किया गया भारतीयों ने इसका विरोध क्यों किया ?

1919 के ‘भारत सरकार अधिनियम’ में यह व्यवस्था की गई थी कि दस वर्ष के बाद एक ऐसा आयोग नियुक्त किया जायेगा जो इस बात की जाँच करेगा कि इस अधिनियम में कौन-कौन-से परिवर्तन संभव है । अत: ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने समय से पूर्व सर जॉन साइमन के नेतृत्व में 8 नवम्बर, 1927 को साइमन कमीशन की स्थापना की । इसके सभी 7 सदस्य अंग्रेज थे । इस कमीशन का उद्देश्य संविधानिक सुधार के प्रश्न पर विचार करना था । इस कमीशन में किसी भी भारतीय को शामिल नहीं किया गया जिसके कारण भारत में इस कमीशन का तीव्र विरोध हुआ । विरोध का एक और मुख्य कारण यह भी था कि भारत के स्वाशासन के संबंध में निर्णय विदेशियों द्वारा किया जाना था । 3 फरवरी, 1928 को बम्बई पहुँचने पर कमीशन का स्वागत हड़तालों, प्रदर्शनों और काले झंडों से हुआ तथा ‘साइमन, वापस जाओ’ के नारे लगाये गये । साइमन कमीशन की नियुक्ति से भारतीय दलों में व्याप्त आपसी फूट एवं मतभेद की स्थिति से उबरने एवं राष्ट्रीय आंदोलन को उत्साहित करने में सहयोग मिला ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here