सत्ता की साझेदारी के अलग अलग तरीके क्या है

सत्ता की साझेदारी के अलग अलग तरीके क्या है ?

लोकतंत्र में सरकार की सारी शक्ति किसी एक अंग में सीमित नहीं रहती है, बल्कि सरकार के विभिन्न अंगों के बीच सत्ता का बँटवारा होता है । यह बँटवारा सरकार के एक ही स्तर पर होता है । उदाहरण के लिए, सरकार के तीनों अंगों— विधायिका, कार्यपालिका एवं न्यायपालिका के बीच सत्ता का बँटवारा होता है और ये सभी अं एक ही स्तर पर अपनी-अपनी शक्तियों का प्रयोग करके सत्ता में साझेदार बनते हैं । सरकार के एक स्तर पर सत्ता के ऐसे बँटवारा को हम सत्ता का क्षैतिज वितरण कहते हैं सत्ता में साझेदारी की दूसरी कार्य-प्रणाली में सरकार के विभिन्न स्तरों पर सत्ता का बँटवारा होता है । सत्ता के ऐसे बँटवारे को हम सत्ता का ऊर्ध्वाधार वितरण कहते हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here