संभावी एवं संचित कोष संसाधन में अंतर स्पष्ट करें

संभावी एवं संचित कोष संसाधन में अंतर स्पष्ट करें ?

संभावी संसाधन— ऐसे संसाधन जो किसी क्षेत्र विशेष में मौजूद होते हैं । जिसे भविष्य में उपयोग लाये जाने की संभावना रहती है । जिसका उपयोग अभी तक नहीं किया गया हो जैसे— हिमालय क्षेत्र का खनिज, राजस्थान और गुजरात क्षेत्र में पवन और सौर ऊर्जा की असीम संभावनाएँ हैं ।

संचित कोष संसाधन— ऐसे संसाधन भंडार जिसे उपलब्धता तकनीक के आधार पर प्रयोग में लाया जा सकता है । भविष्य की यह पूँजी है । नदी जल भविष्य में जलविद्युत उत्पन्न करने में उवयुक्त हो सकते हैं । ऐसे संसाधन वन में या बाँधों में जल के रूप में संचित है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here