वर्षा जल संग्रहण या वर्षा की खेती से आप क्या समझते हैं

वर्षा जल संग्रहण या वर्षा की खेती से आप क्या समझते हैं ?

जल संग्रहण/वर्षा की खेती का तात्पर्य आर्द्र खेती से है, जो विशेषकर कांप और काली मिट्टी के क्षेत्रों में की जाती है । यहाँ 100 से 200 सेमी. वर्षा होती है । मध्यवर्ती गंगा का मैदान इसका प्रमुख क्षेत्र है जहाँ प्राय: दो फसलें पैदा की जाती है और कभी-कभी जायद की फसल भी उत्पन्न कर ली जाती है । ऐसे क्षेत्र में उत्पन्न सिंचाई तंत्र का भी शुष्क मौसम में प्रयोग कर लिया जाता है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here