मौर्य काल में अधिक लाभ होने पर व्यापारियों से कौन सा कर लिया जाता था

मौर्य काल में अधिक लाभ होने पर व्यापारियों से कौन सा कर लिया जाता था ?

मौर्य काल में अधिक लाभ होने पर व्यापारियों से ‘पार्श्व कर’ लिया जाता था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here