मृदा अपरदन की परिभाषा दें, मृदा अपरदन रोकने में सहायक तीन उपायों का उल्लेख करें

मृदा अपरदन की परिभाषा दें, मृदा अपरदन रोकने में सहायक तीन उपायों का उल्लेख करें ?

प्राकृतिक अथवा मानवीय कारणों से मिट्टी का अपने मूल स्थान से हटना अथवा मिट्टी की उपजाऊ परत के कटाव एवं बहाव की प्रक्रिया को मृदा अपरदन कहा जाता है । मृदा अपरदन के लिए मृदा का असंगठित होना अनिवार्य है । इसके कई कारण हैं ।

मृदा संरक्षण या मृदा अपरदन रोकने के तीन उपाय हैं—

(1)- वानिकी कार्यक्रम के तहत बेकार पड़ी भूमि पर सामाजिक वानिकी, क्षतिपूर्ति वानिकी एवं विशिष्ट वानिकी पर जोर देना ।

(2)- पर्वतीय क्षेत्रों में वन-कटाव एवं स्थानांतरी कृषि पर प्रतिबंध लगाना एवं समोच्च रेखी कृषि करना ।

(3)- मैदानी भागों में वृक्षारोपन के साथ-ही-साथ फसल-चक्र, पट्टी कृषि आदि पर जोर देना तथा सिंचाई द्वारा अधिक समय तक भूमि को हरा-भरा रखना ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here