भूमिगत जल के उपयोग में क्या समस्याएँ आती है

भूमिगत जल के उपयोग में क्या समस्याएँ आती है ?

जल मनुष्य के जीवन का मुख्य आधार है । यह न केवल कृषि के लिए आवश्यक है, वरन् इससे मानव की अनगिनत अन्य समस्याएँ भी हल होती है । शताब्दियों से मानव भू-पृष्टीय जल एवं भूमिगत जल का प्रयोग अपने लाभ के लिए करता आ रहा है । विशेषकर जब मनुष्य को निकट से भू-पृष्ठीय जल की उपलब्धि न हो सके तो उसे भूमिगत जल के उपयोग में अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है ।

इसमें कुछ मुख्य समस्याएँ इस प्रकार है—

(1)- जल-स्तर का नीचे चला जाना— जब भू-पृष्ठ जल निकट उपलब्ध न हो तब मनुष्य भूमिगत जल का प्रयोग करने लगता है । ऐसा निरंतर करते रहने से जल-स्तर काफी नीचे गिर जाता है और कई बार तो कुएँ बिल्कुल ही सूख जाते हैं ।

(2)- पहाड़ी भू-भाग का बड़ी रूकावट सिद्ध होना— भूमिगत जल का प्रयोग करने के लिए भूमि में कुएँ खोदने पड़ते हैं और यदि भूमि पहाड़ी हो तो इन कुओं का खोदना एक बड़ी विकट समस्या बन जाती है । ऐसे में भूमिगत जल तक पहुँचना ही कठिन बन जाता है तो उसका उपयोग कैसे किया जा सकता है ।

(3)- महँगा सौदा— यदि पानी बहुत हो तो गहरे कुएँ खोदने में बहुत खर्च आ जाता है । न केवल खुदाई में अधिक लागत आती है, वरन् पम्प सेट तथा पाइपों आदि के खरीदने में काफी धन की आवश्यकता पड़ती है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here