भारत में जल विद्युत शक्ति का महत्त्व अधिक है क्यों

भारत में जल विद्युत शक्ति का महत्त्व अधिक है क्यों ?

उद्योगों के विकेंद्रीकरण तथा अन्य कई कारणों से देश में जलविद्युत का बड़ा महत्त्व है ।

इसके कई कारण हैं—

(1)- उत्तम कोयले का भंडार सीमित होने के कारण उसके संरक्षण की दृष्टि से जलविद्युत का विकास जरूरी है ।

(2)- जलविद्युत का उत्पादन कोयले से सस्ता है ।

(3)- कोयला सीमित क्षेत्र में उपलब्ध है जबकि बिजली की माँग पूरे देश में है ।

(4)- जलविद्युत का वितरण अपेक्षाकृत अधिक दूर तक किया जाना संभव होता है ।

(5)- जल से विद्युत उत्पादन के साथ-ही-साथ सिंचाई का काम भी किया जाता है ।

(6)- पेट्रोलियम का उत्पादन एवं वितरण तुलनाक्मक रूप से मँहगा है ।

(7)- उद्योगों के विकेंद्रीकरण में जलविद्युत सस्ती पड़ती है ।

(8)- घरेलू बिजली आपूर्ति का यह सशक्त माध्यम है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here