भारत के सूती वस्त्र उद्योग में गिरावट के क्या कारण थे

भारत के सूती वस्त्र उद्योग में गिरावट के क्या कारण थे ?

18वीं शताब्दी तक भारतीय सूती कपड़े की मांग सारे विश्व में थी, परंतु 19वीं शताब्दी के आते-आते अनेक कारणों से इसमें गिरावट चली आई जो निम्नलिखित थे—

(1)- भारतीय सूती कपड़े के उद्योग की गिरावट का सबसे मुख्य कारण इंग्लैंड की औद्योगिक क्रांति थी जिसके कारण अब उसने भारत से सूती कपड़े का आयात बन्द कर दिया था ।

(2)- औपनिवेशिक सरकार भारतीय बाजारों में ब्रिटिश-निर्मित सूती वस्त्र की भरमार कर दी जो भारतीय वस्त्र के मुकाबले काफी सस्ते होते थे ।

(3)- अंग्रेजी कंपनी काफी कम कीमत में भारतीय कपास या रूई खरीदकर इंग्लैंड भेज देती थी जिससे भारतीय निर्माताओं को अच्छी कपास मिलना मुश्किल हो गया ।

(4)- इसके अलावा भारतीय सूती कपड़े के निर्यात पर काफी कर लगा दिए गए तथा ब्रिटिश-निर्मित कपड़े को काफी कम कर पर या नि:शुल्क भारत आने दिया गया ।

ऐसे में भारतीय सूती वस्त्र उद्योग में लगातार गिरावट आती चली गयी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here