भारत की आजादी के बाद कुटीर उद्योग के विकास में भारत सरकार की नीतियों को लिखें

भारत की आजादी के बाद कुटीर उद्योग के विकास में भारत सरकार की नीतियों को लिखें ?

भारत की आजादी के बाद कुटीर उद्योगों के विकास हेतु भारत सरकार की नीतियों में निम्नलिखित परिवर्तन हुए—

(1)- 6 अप्रैल, 1948 की औद्योगिक नीति द्वारा लघु एवं कुटीर उद्योग को प्रोत्साहन दिया गया ।

(2)- 1952-53 ई. में पाँच बोर्ड बनाये गए, जो हथकरघा, सिल्क, खादी, नारियल की जटा तथा ग्रामीण उद्योग से जुड़े थे । 1956 एवं 1977 ई. की औद्योगिक नीति में इनके प्रोत्साहन की बात कही गई ।

(3)- आगे 23 जुलाई, 1980 को औद्योगिक नीति घोषणा-पत्र जारी किया गया, जिसमें कृषि आधारित उद्योगों की बात कही गई एवं लघु उद्योगों की सीमा भी बढ़ायी गई ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here