बिहार में बाढ़ की स्थिति का वर्णन करें

बिहार में बाढ़ की स्थिति का वर्णन करें ?

मौनसून की अनिश्चितता के कारण बिहार के किसी न किसी भाग में प्रतिवर्ष बाढ़ का आगमन होता है । बिहार की कोसी बाढ़ की विभीषिका के लिए बदनाम है । उत्तरी बिहार के मैदान बाढ़ से अधिक प्रभावित हैं । उत्तरी बिहार में बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में सारण, गोपालगंज, वैशाली, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, सहरसा, खगड़िया, दरभंगा, मधुबनी इत्यादि हैं । इन क्षेत्रों में मुख्यत: घाघरा, गंडक, कमला, बागमती और कोसी नदियों से बाढ़ आती है । उत्तरी बिहार की नदियों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न होने के प्रमुख कारण हिमालय तराई क्षेत्र में अधिक वर्षा है । एक सर्वेक्षण के अनुसार बिहार में कुल बाढ़-क्षेत्र लगभग 64 लाख हेक्टेयर है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here