बारदोली सत्याग्रह का कारण क्या था क्या यह सत्याग्रह सफल रहा

बारदोली सत्याग्रह का कारण क्या था क्या यह सत्याग्रह सफल रहा ?

गुजरात में स्थित बारदोली के किसानों ने सरकार द्वारा बदले गये कर के विरोध में बल्लभ भाई पटेल के नेतृत्व में सत्याग्रह किया । पटेल ने किसानों के लगान में हुई 22% की करवृद्धि का विरोध किया तथा सरकार से माँग की कि सरकार प्रस्तावित लगान में वृद्धि को वापस ले । सरदार पटेल ने इस आंदोलन को संगठित किया तथा ‘बारदोली’ पत्रिका के माध्यम से इसका प्रसार किया । कई बौद्धिक संगठन बनाये गए । आंदोलन का विरोध करने वालों का सामाजिक बहिष्कार किया जाने लगा । इस आंदोलन में महिलाओं की भी सक्रिय भागीदारी रही । आंदोलन के समर्थन में के.एम. मुंशी तथा लालजी नारंगी ने बम्बई विधान परिषद की सदस्यता से त्याग-पत्र दे दिया । अगस्त 1928 तक पूरे क्षेत्र में आंदोलन सक्रिय रूप से फैल चुका था । सरदार पटेल की गिरफ्तारी की आशंका को देखते हुए गाँधी जी 2 अगस्त, 1928 को बारदोली पहुँचे । गाँधी जी के प्रभाव के कारण सरकार ने लगान में वृद्धि को गलत बताया और बढ़ोतरी 22 प्रतिशत से घटाकर 6.03 प्रतिशत कर दी । बारदोली सत्याग्रह के सफल होने के बाद वहाँ की महिलाओं ने सरदार बल्लभभाई पटेल को ‘सरदार’ की उपाधि प्रदान की ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here