परंपरागत एवं गैर परंपरागत ऊर्जा स्रोतों के बीच अंतर उदाहरण के साथ स्पष्ट करें

परंपरागत एवं गैर परंपरागत ऊर्जा स्रोतों के बीच अंतर उदाहरण के साथ स्पष्ट करें ?

ऊर्जा के ऐसे साधन जिनका भंडार सीमित होता है, परंपरागत ऊर्जा के स्रोत कहे जाते हैं, जैसे-कोयल, पेट्रोलियम, परमाणु खनिज इत्यादि । वैसे संसाधन जिनका भंडार अक्षय है और कभी खत्म होने वाला नहीं है, उन्हें गैर-परंपरागत ऊर्जा स्रोत कहा जाता है, जैसे— पवन ऊर्जा, सौर ऊर्जा, भूतापीय ऊर्जा इत्यादि ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here