गैर लोकतांत्रिक व्यवस्था के फैसले भी क्षोभ और निराशाजनक होती हैं क्यों

गैर लोकतांत्रिक व्यवस्था के फैसले भी क्षोभ और निराशाजनक होती हैं क्यों ?

गैर-लोकतांत्रिक व्यवस्था के फैसले तत्कालिक एवं तुरंत लिए जाने के कारण, व्यक्तिगत पूर्वाग्रहों से प्रभावित एक सामूहिक जनकल्याण से अभिप्रेरित नहीं रहने के कारण क्षोभपूर्ण एवं निराशाजनक होती है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here