अर्थशास्त्र में वितरण की धारणा से क्या समझते हैं

अर्थशास्त्र में वितरण की धारणा से क्या समझते हैं ?

अर्थशास्त्र में वितरण की धारणा राष्ट्रीय आय का आकलन में एक महत्वपूर्ण स्थान रखती है जिसे हम उत्पादन के विभिन्न साधनों की भागीदारी में हिस्सा लेने को कहते हैं । वास्तव में विभिन्न साधनों के सहयोग से राष्ट्रीय आय की प्राप्ति होती है और राष्ट्रीय आय को पुन: उन साधनों के बीच वितरित कर दिया जाता है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here